बुधवार, 13 अप्रैल 2011

एक अपील- क्रान्ति का बिगुल बजाये

जनकल्याण हेतु अपनी आहुति जरुर दें
हर वो भारतवासी जो भी भ्रष्टाचार से दुखी है,वो देश की आन-बान-शान के लिए अब भी समाजसेवी श्री अन्ना हजारे का समर्थन करने हेतु एक बार 022-61550789 पर स्वंय भी मिस्ड कॉल करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे.यह श्री हजारे की लड़ाई नहीं है बल्कि हर उस नागरिक की लड़ाई है. जिसने भारत माता की धरती पर जन्म लिया है.

आम और खास आदमी का वेबसाईट, 

जहाँ हर देशभक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए !

 
भ्रष्टाचारियों के मुंह पर तमाचा, जन लोकपाल बिल पास हुआ हमारा. जन लोकपाल बिल को लेकर सरकार की नीयत ठीक नहीं लगती है.अब लगता है इन मंत्रियों को जूता-चप्पल की भाषा समझ आएगी. हमें अपने अधिकारों लेने के लिए अब ईंट का जवाब पत्थर से देना होगा.
              श्री अन्ना हजारे की जीत की लड़ाई को श्री जय कुमार झा के सहयोग से "सिरफिरा" भी हुआ अपने कैमरे में कैद करने में कामयाब. अपने चित्रों की जुबानी पोस्ट मैं यहाँ पर कल पोस्ट करूँगा.
                  
मेरी आकांक्षा (ख्याब) सुनकर भी अनेक लोग मजाक उड़ाते हैं, इसलिए मैं अपने आपको "सिरफिरा" कहलाता हूँ. जिसका दिमाग "फिरा" होता है या यह कहे "सनकी" होता है.उसी को लोग "पागल" कहते हैं, कोई मुझे "पागल" कहे उससे पहले ही स्वंय को "सिरफिरा" कहलवाना शुरू कर दिया. मेरे बारे में एक वेबसाइट को अपनी जन्मतिथि, समय और स्थान भेजने के बाद यह कहना है कि- आप अपने पिछले जन्म में एक थिएटर कलाकार थे. आप कला के लिए जुनून अपने विचारों में स्वतंत्र है और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में विश्वास करते हैं.भ्रष्टाचार से मुक्त भारत देश को बनाने के लिए हमें क्यों भाषा भी विदेशी का प्रयोग करना पड़ रहा है? राष्ट्र के प्रति हर व्यक्ति का पहला धर्म है अपने राष्ट्र की राष्ट्रभाषा का सम्मान करना.
                     इन्टरनेट या अन्य सोफ्टवेयर में हिंदी की टाइपिंग कैसे करें और हिंदी में ईमेल कैसे भेजें जाने और आम आदमियों की परेशानियों को लेकर क़ानूनी समाचारों पर बेबाक टिप्पणियाँ पढ़ें. उच्चतम व दिल्ली उच्च न्यायालय को भेजें बहुमूल्य सुझाव (जिस पर  कुछ समय बाद अमल किया गया) पर अपने विचार प्रकट करने हेतु मेरे ब्लॉग देखें.
             जब "कलम" पर अत्याचार होता है, तब "कलम" का पागलपन क्या होता है? आम-आदमी की छोटी-छोटी समस्याओं और क्षेत्रीय सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रमों व अपराधिक गतिविधियों के समाचारों पर मेरी बेबाक टिप्पणियाँ और विचारधारा जाने हेतु नियमित रूप से मेरे ब्लॉग http://sirfiraa.blogspot.com   और http://rksirfiraa.blogspot.com देखें.

1 टिप्पणी:

  1. अरे आपने दाढ़ी भी बढ़ा ली ..लगता है इसे तभी कटायेंगे जब भ्रष्ट मंत्री जेल जायेंगे ...आपका जंतर-मंतर पर आजादी की दूसरी लड़ाई में शामिल होने के लिए आभार...हमसब को मिलकर की भ्रष्ट व कुकर्मी मंत्रियों का सफाया करना होगा...

    उत्तर देंहटाएं

ये सिर्फ टिपण्णी नहीं बल्कि भ्रष्टाचार के खिलाप लड़ने वाले सेनानियों को आपका समर्थन है.....